Top 11 On Page SEO Techniques 2018 in Hindi

On Page SEO in Hindi: अपने article को Google या अन्य search engine में rank कराने के लिए on-page optimization बेहद जरूरी है. Blog पर ज्यादा से ज्यादा traffic पाने के लिए यह एक major factor है. यदि आप जानना चाहते हैं on-page SEO kya hai और अपने blog post में on-page optimization techniques को कैसे implement किया जाता है तो आप इस article पूरा पढ़ें.

एक article को आप किस keyword पर rank कराना चाहते हैं?

Search Engine में आपके post के ऊपर कितने clicks आएंगे?

कोई visitors आपके blog में कितने समय spend करेगा?

यह सब कुछ निर्भर करता है on-page SEO के ऊपर और Google में rank करने के लिए यह सारे factors बहुत ही अहम है. Google RankBrain algorithm के अनुसार आपका post कहां पर rank करेगा, यह इन factors पर भी निर्भर करता है.

On-Page SEO in Hindi


SEO (Search Engine Optimization) मुख्य रूप से 2 प्रकार के होते हैं.

          1. On-Page SEO
          2. Off-Page SEO

Search engine पर ranking पाने के लिए on-page optimization के साथ साथ अन्य off-page SEO factors जैसे social share, domain authority, backlinks जरूरी है, लेकिन इनमें से सबसे ज्यादा महत्व on-page optimization का है.


On-Page SEO Kya Hai

किसी भी web page या blog post को search engine में rank करने के लिए proper तरीके से optimize करने को on-page SEO कहा जाता है. एक article को लिखते वक्त हमें बहुत सारे factors पर ध्यान देना पड़ता है जैसे कि title को attractive रखना, keyword placement करना, content quality को बेहतर करना, proper headings का use करना etc.

आपका blog post जितना ज्यादा search friendly होगा उसके Search engine (Google, Yahoo etc) में rank करने के chances भी उतने ज्यादा होंगे.

On-page SEO के माध्यम से हम search engine को यह जानने में help करते हैं कि हमारा content किस बारे में है और हमारे post को search engine किस keyword के लिए show करेगा.


On-Page SEO Techniques 2018 in Hindi


यदि आप जाना चाहते हैं On-page SEO कैसे करें? आज मैं आपसे on-page SEO के advance techniques को share करने वाला हूं, जिससे आप अपने blog पर implement करके best results पा सकते हैं.

1. High-Quality Content

कोई भी SEO strategy तभी काम करेगी जब आपके blog का content अच्छा होगा. Google में rank करने के लिए सबसे जो पहला और important factor है वह आपका content है.

- एक content high quality का तभी होता है जब उसमें दिए गए information 100% सही हो, article को detail में लिखें ताकि उस topic से related सारे सवालों का जवाब visitors के मिल जाए, post को ज्यादा engaging करें और अपने writting skills को बेहतर करें.

Suppose: मान लीजिए आपका blog post Google में पहले page पर rank कर रहा है, लेकिन आपका content अच्छा नहीं है तो जो भी visitors आपके link पर click करेंगे वह जल्दी ही back button press करके blog से बाहर आ जाएंगे इससे आपके post की ranking बहुत जल्दी खराब होने लगेगी और वह search results में पीछे चला जाएगा.

- Quality के साथ blog post की lenght भी ज्यादा होना जरूरी है Google में rank करने के लिए. ऐसा देखा गया है, Google के पहले page पर ज्यादातर लम्बे content सबसे अधिक rank करते हैं.

SEO expert, Brian Dean (Backlinko.com) इस  बारे में क्या कहते हैं?

Brian Dean on long content

अपने blog post का length 1000+ word रखने की कोशिश करें, इसका मतलब यह नहीं है कि आप unnecessary content को बढ़ाएं और post में stuffing करें. Content जितना बड़ा होगा उसमें आप keywords का ज्यादा प्रयोग कर सकते हैं, जो आपके blog post SEO के लिए अच्छा है.


2. User Experience

यदि आपके blog का user experience अच्छा होगा तो बार-बार visitors आपके site पर आएंगे. अपने blog के user experince को improve करने के लिए आप इन बातों का ध्यान रखें;

          - आप अच्छी theme का इस्तेमाल करें जो responsive हो (Mobile friendly site).
          - Article में letters prominent होने चाहिए ताकि readability अच्छा हो.
          - Popups को blog से हटा दें.
          - Blog post  में दिए गए links new window में open हो.
          - Broken links को blog से remove करें.


3. Blog Post Title

On-page SEO के लिए आपके blog post का title बहुत important factor है. आपका post title जितना बढ़िया और attractive होगा search results में लोग आपके links पर उतना ही ज्यादा clicks करेंगे, यानी CTR improve होगा. इससे आपके post की ranking भी बढ़ेगी.

अपने blog post के title को attractive और SEO friendly बनाने के लिए क्या करें?

          - Targeted keyword को अपने blog के title में जरूर use करें.
          - Title को 65 character के अंदर रखने की कोशिश करें.
          - एक title के शुरुआत में ही अपने keyword को place करने की कोशिश करें.
          - Title में modifier (top, best, tutorial, guide, current-year "2018") का इस्तेमाल करें.
          - Title को H1 tag में रखें, इसके अलावा और कहीं पर भी H1 tag का इस्तेमाल ना करें.
     
Note: Search engine पर beginning में keyword का importance ज्यादा होता है. लेकिन हर बार आप title के starting में targeted keyword का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं.


4. Permalink Structure

Blog के permalink या URL को ज्यादातर blogger इतना importance नहीं देते हैं, लेकिन आपके post को Google में rank करने के लिए यह दूसरी सबसे महत्वपूर्ण चीज है.

यह अपने blog post के URL को छोटा रखें और उसमें अपने main keyword का इस्तेमाल जरूर करें. देखा गया है कि short URL (3-5 word) Google में ज्यादा बेहतर rank करते हैं

Avoid these URLs:  http://www.oyepandeyji.com/?p=123                               
                                  http://www.oyepandeyji.com/2015/06/30/post-name/                                                                            http://www.oyepandeyji.com/2015/06/top-10-on-page-seo-techniques-hindi/ 

Best Permalink Structure:   http://www.oyepandeyji.com/on-page-seo-hindi

Already मैंने permalink के ऊपर details में post लिखा है इसे आप जरूर पढ़ें, Permalink को SEO friendly कैसे बनाएं?


5. Meta Description

Meta description आपके blog post के बारे में दिया गया छोटा सा description है. यह आपके article के SEO के लिए बहुत important है.

जब आप Google में कोई भी keyword से search करते हैं, आपके द्वारा enter किया गया keyword search engine results के desciption में highlight होकर आएगा. मतलब Google यह भी दिखता है कि जो keyword है वह आपके meta description में होना चाहिए.

Meta description को आप unique रखें, उसका length 160 charecter में हो और अपने main targeted keyword को इसमें इस्तेमाल करें.


6. Image Optimization

SEO के लिए image को optimize करके आप search engine को यह बता रहे हैं कि आपका post किस बारे में है और image को rank कराके भी आप ज्यादा traffic पा सकते हैं.

यहां आप जान सकते हैं एक Image को properly Optimize कैसे करें?

अपने blog post के main image में targeted keyword का इस्तेमाल जरूर करें. पहले image के file size को compress करके blog की loading speed को कम करा सकते हैं और image के Alt text में keyword का use करके search engine friendly बना सकते हैं.


7. Blog Loading Speed

आपके blog की speed on-page SEO के लिए एक बड़ा factor है. यदि आपके site का loading speed बहुत ज्यादा है तो उसके Google में rank करने के chances भी बहुत कम होंगे.

यदि आपका blog load होने में 4 seconds से ज्यादा का वक्त लगता है तो आप 65% तक visitors loose कर सकते हैं. Google के नजर में यह आपके blog पर एक negetive impact डालता है.

Google Webmaster Central blog के अनुसार July 2018 के बाद page speed mobile searches के लिए भी एक important ranking factor है.

Google page speed in mobile search Ranking

आप Pingdom, GTMetrix जैसे site पर अपने blog का loading speed check कर सकते हैं.

Note: अपने site की loading speed को बढ़ाने के लिए, blog में use होने वाले image को compress करें, unnecessary image का इस्तेमाल ना करें, Homepage में ज्यादा post या widgets का use ना करें, Wordpress users अच्छी hosting buy करें.


8. Keyword Placement

आपका post search engine में कौन से keyword पर rank करेगा यह बताने के लिए हमें अपने post में targeted keyword को use करना चाहिए. लेकिन अपने post में keyword placement कहां करें और keyword density कितनी होनी चाहिए यह जानना बेहद जरूरी है.

                Complete Guide: Blog Post में Keyword Placement कहां करें?

Best SEO results के लिए आप अपने post के keywords को यहां पर place कर सकते हैं;

             - अपने main keyword को subheading (H2 tag) में use करें.
             - Article के पहले 1-2 line के अंदर keyword का इस्तेमाल करें.
             - LSI keywords को blog post के बीच में use करें.
             - Post के last paragraph में भी keyword को use करें.

अपने post में keyword की density 2% के अंदर रखें, ज्यादा बार keyword का इस्तेमाल करने पर यह keyword stuffing में चला जाता है.


9. Internal Links

Internal link कैसे आपके SEO के लिए important है इसका सबसे बड़ा example है Wikipedia. Internal link में आपके ही blog से दूसरे post का link दिया जाता है.

Internal links से आपके post की rank बढ़ने में मदद करती है, और दूसरे पुराने post पर भी traffic आता है. जिससे आपके blog का bounce rate कम होगा क्योंकि user आपके दूसरे content पर भी visit करेगा और आपके blog में ज्यादा time रुकेगा.

Internal link देते वक्त anchor text का use करें और anchor text के अंदर keyword का इस्तेमाल करें.

Note: मैं आपको recommend करूंगा अपने हर नए post में 2 से 5 पुराने related post का internal linking जरूर करें.


10. Outbound Links

"जब आप दूसरे site को कोई link देते हैं उसे Outbound या External link कहते हैं."

अपने article में जहां जरूरत हो वहां पर external linking करनी चाहिए. SEO के लिए external link एक important factor है.

Related page को ही Outbound links देना चाहिए, इससे Google को पता चलता है कि आपका page किस topic पर है. इस तरह के link से Google का आपके blog पर trust बढ़ता है और उसे लगता है कि आपका content 100% genuine है.

Note: हमेशा authority site को ही external link दें यानी जिसका DA (Domain Authority), PA (Page Rank) अच्छा हो.


11. Engaging Multimedia

Users सिर्फ text को पढ़ना पसंद नहीं करते हैं, अगर text के साथ-साथ related image, videos या infograph मौजूद है तो वह आपके content के value को बढ़ा देता है.

Bounce rate और time on site यह 2 important ranking factor है Google में rank करने के लिए. Google यह देखता है search results से आने वाले visitors आपके page पर कितना देर ठहरते हैं (Dwell Time), जितना ज्यादा समय user आपके page पर time spend करेंगे उतना ही उसका ranking better होगा.

आपने देखा होगा मैं अपने बहुत सारे article में video का इस्तेमाल करता हूं, आप चाहे तो video के साथ साथ high quality infograph का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे visitors आपके page पर ज्यादा समय बिताएंगे जिससे कि dwell time increase होगा.


आशा करता हूं कि आप को on-page SEO techniques के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी. इसे आप अपने blog में implement करके बेहतर results पा सकते हैं.

इस post को appreciate करने के लिए इससे Facebook, Twitter, WhatsApp पर अपने दोस्तों के साथ share करें.



5 comments:

Powered by Blogger.